जानिए माघ पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व, माघ पूर्णिमा स्नान से मिलता है मोक्ष

0
जानिए माघ पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व, माघ पूर्णिमा स्नान से मिलता है मोक्ष

हिन्दू धर्म में पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व माना जाता है। प्रत्येक मास के शुक्ल पक्ष की अंतिम तिथि को पूर्णिमा तिथि कहते है और इसके बाद ही नए मास का आरंभ हो जाता है। माघ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को माघी पूर्णिमा कहा जाता है। इस दिन चंद्रमा अपनी पूर्ण कलाओं के साथ होता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन दान, स्नान और व्रत करने का विशेष महत्व होता है। माघ मास के स्नान और माघ पूर्णिमा की बहुत महिमा मानी गई है। इस तिथि के दिन किया गया शुभकर्म परमफलदायिनी कहा गया है।

जानिए माघ पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व, माघ पूर्णिमा स्नान से मिलता है मोक्ष

माघ पूर्णिमा मुहूर्त-

माघ मास की पूर्णिमा तिथि का आरंभ दिनांक 26 फरवरी 2021 दिन शुक्रवार को दोपहर 03 बजकर 49 मिनट पर होगा और माघ मास की पूर्णिमा तिथि का समापन 27 फरवरी 2021 दिन शनिवार दोपहर 01 बजकर 46 मिनट पर होगा।

जानिए माघ पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व, माघ पूर्णिमा स्नान से मिलता है मोक्ष
जानिए माघ पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त और महत्व, माघ पूर्णिमा स्नान से मिलता है मोक्ष

माघ पूर्णिमा का महत्व

माघ मास की पूर्णिमा तिथि पर पवित्र नदी में स्नान करने और दान-पुण्य करने से मनुष्य के पापों का नाश होता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार माघ पूर्णिमा पर जो व्यक्ति विधिपूर्वक भगवान की उपासना करता है एवं सत्यनारायण भगवान की कथा करता है उसे सुखों की प्राप्ति होती है और भगवान अपने भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। इस दिन कुछ लोग व्रत करके चंद्रमा का पूजन भी करते है। जिसका ज्योतिष की दृष्टि से बहुत महत्व माना जाता है। ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा मन का कारक है और चंद्र पूजन से व्यक्ति को मानसिक शांति का अनुभव होता है।